"कार्य ही पूजा है/कर्मण्येव अधिकारस्य मा फलेषु कदाचना" दृष्टान्त का पालन होता नहीं,या होने नहीं दिया जाता जो करते हैं उन्हें प्रोत्साहन की जगह तिरस्कार का दंड भुगतना पड़ता है आजीविका के लिए कुछ लोग व्यवसाय, उद्योग, कृषि से जुडे, कुछ सेवारत हैंरेल, रक्षा सभी का दर्द उपलब्धि, तथा परिस्थितियों सहित कार्यक्षेत्र का दर्पण तिलक..(निस्संकोच ब्लॉग पर टिप्पणी/अनुसरण/निशुल्क सदस्यता व yugdarpan पर इमेल/चैट करें, संपर्कसूत्र-तिलक संपादक युगदर्पण 09911111611, 09999777358

बिकाऊ मीडिया -व हमारा भविष्य

: : : क्या आप मानते हैं कि अपराध का महिमामंडन करते अश्लील, नकारात्मक 40 पृष्ठ के रद्दी समाचार; जिन्हे शीर्षक देख रद्दी में डाला जाता है। हमारी सोच, पठनीयता, चरित्र, चिंतन सहित भविष्य को नकारात्मकता देते हैं। फिर उसे केवल इसलिए लिया जाये, कि 40 पृष्ठ की रद्दी से क्रय मूल्य निकल आयेगा ? कभी इसका विचार किया है कि यह सब इस देश या हमारा अपना भविष्य रद्दी करता है? इसका एक ही विकल्प -सार्थक, सटीक, सुघड़, सुस्पष्ट व सकारात्मक राष्ट्रवादी मीडिया, YDMS, आइयें, इस के लिये संकल्प लें: शर्मनिरपेक्ष मैकालेवादी बिकाऊ मीडिया द्वारा समाज को भटकने से रोकें; जागते रहो, जगाते रहो।।: : नकारात्मक मीडिया के सकारात्मक विकल्प का सार्थक संकल्प - (विविध विषयों के 28 ब्लाग, 5 चेनल व अन्य सूत्र) की एक वैश्विक पहचान है। आप चाहें तो आप भी बन सकते हैं, इसके समर्थक, योगदानकर्ता, प्रचारक,Be a member -Supporter, contributor, promotional Team, युगदर्पण मीडिया समूह संपादक - तिलक.धन्यवाद YDMS. 9911111611: :

Wednesday, April 30, 2014

तिवारी ने गडकरी से मांगी, बिना शर्त क्षमा

तिवारी ने गडकरी से मांगी, बिना शर्त क्षमा
केन्द्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने दुर्भावना पूर्वक भाजपा के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी के विरुद्ध आदर्श सोसायटी घोटाले के संदर्भ में लगाए गए मिथ्या आरोपों के लिए उनसे ‘‘बिना शर्त क्षमा’’ मांगी है। भाजपा द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार तिवारी ने न्यायालय में दिए लिखित वक्तव्य में गडकरी पर लगाए गए गलत आरोपों के लिए क्षमा मांगते हुए कहा है कि भविष्य में वह आदर्श सोसायटी को लेकर उनके बारे में ऐसी कोई टिप्पणी नहीं करेंगे, जिनसे उनकी मानहानी हो। तिवारी ने कांग्रेस प्रवक्ता के रूप में 10 नवंबर, 2010 को संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया था कि गडकरी का आदर्श सोसायटी में 'बेनामी फ्लैट' है।
गडकरी ने इस आरोप का खंडन करते हुए तिवारी से क्षमा मांगने को कहा था, किन्तु तब ऐसा नहीं करने पर उन्होंने आपराधिक मानहानि का मामला अंकित किया। तिवारी ने मुंबई की अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट की न्यायालय में दिए लिखित वक्तव्य में कहा, कि आदर्श सोसायटी घोटाले की जांच के लिए गठित न्यायिक आयोग की रपट देखने के बाद यह स्पष्ट हुआ है, कि ‘‘इस घोटाले में आपका किसी तरह का कोई लेना देना नहीं था।’’ उन्होंने स्वीकार किया, कि 10 नवंबर, 2010 को उन्होंने जो वक्तव्य दिया था, वह सही तथ्यों पर आधारित नहीं था। गडकरी ने तिवारी की ‘‘बिना शर्त क्षमा याचना’’ के बाद न्यायालय से कांग्रेस नेता के विरुद्ध अपनी याचिका वापस ले ली है। 
मनीष तिवारी ने तो "क्षमा याचना’’ कर ली किन्तु इन मिथ्या आरोपों के सन्दर्भ से केजरीवाल मिथ्या आरोपों के प्रहार करता रहा तथा भाजपा के विरुद्ध जनता को भ्रमित कर लोकतंत्र से खिलवाड़ करता रहा। जब तक मनीष तिवारी अथवा केजरीवाल जैसों पर प्रभावी रोक क़ी कर्यवाही नहीं होती तब तक हम इसे सफल लोकतंत्र में चुनाव आयोग की निष्पक्षता कैसे मान लें। 
नकारात्मक मीडिया के सकारात्मक व्यापक विकल्प का
सार्थक संकल्प -युगदर्पण मीडिया समूह YDMS- तिलक संपादक
हम जो भी कार्य करते हैं, परिवार/काम धंधे के लिए करते हैं |
 देश की बिगडती दशा व दिशा की ओर कोई नहीं देखता | आओ मिलकर इसे बनायें; -तिलक

Sunday, April 6, 2014

भाजपा को स्थापना दिवस उपहार

भाजपा को स्थापना दिवस उपहार 
'Spectacular BJP win'भाजपा और उसके सहयोगी दलों को लोकसभा चुनाव में अभी तक 259 सीटों पर विजय, शुक्रवार को जारी एक सर्वेक्षण के अनुसार, जबकि कांग्रेस के नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन को 123 सीटें पाने का अनुमान है। 
जिसमे भाजपा 214 सीटों का अनुमान और कांग्रेस 104, एनडीटीवी द्वारा सर्वेक्षण के अनुसार। 
उत्तर प्रदेश जैसे राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण राज्य में जहां भाजपा ने नरेंद्र मोदी को अपनी ओर से प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी के रूप मैदान में उतारा है, भाजपा के लिए यह एक "भव्य जीत" दर्शाता है। 
http://raashtradarpan.blogspot.in/2014/04/blog-post.html
http://samaajdarpan.blogspot.in/2014/04/blog-post.html
http://yuvaadarpan.blogspot.in/2014/04/blog-post.html

'भाजपा की भव्य जीत'

भाजपा को 2009 चुनाव में मात्र 10 की तुलना में, राज्य की 80 सीटों में से 53 जीत की आशा है. 
उत्तर प्रदेश केंद्र में सत्ता की कुंजी है क्योंकि अब तक भाजपा का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 1998 के चुनावों में था, जब यह राज्य में 57 सीटें जीती है। 
भाजपा सवर्ण और पिछड़ी जाति के मतदाताओं का एक गठबंधन यह बनाने के लिए काम 1990 के दशक में उत्तर प्रदेश में बड़ी विजय का संकेत है। दूसरी ओर दक्षिण में तेदेपा की राजग में वापसी, 10 वर्ष पश्चात् भाजपा के भाग्य का चक्र घूमा है। यह भाजपा को उसके स्थापना दिवस उपहार है। 
सर्वेक्षण से यह भी पता चला है, कि हर राज्य के किसी क्षेत्र में बड़े नेताओं के क्षेत्ररक्षण की अपनी रणनीति के साथ भाजपा का भाग्योदय हो सकता है। 
A new
survey says
the BJP is
expected to win
53 of UP's 80 seats,
compared to just
10 in the 2009
polls. Pictured is BJP prime ministerial candidate Narendra Modiचित्र में भाजपा प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी
 
सर्वेक्षण में कांग्रेस और अजित सिंह के नेतृत्व में अपने सहयोगी दल राष्ट्रीय लोकदल के लिए सबसे बड़ा क्षय की भविष्यवाणी की गई है। 
वे 2009 में 26 सीटों में से मात्र सात सीटों के लिए आशा कर रहे हैं। 
उत्तर प्रदेश में भाजपा का लाभ भी समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के लिए खाते से हैं। 
2009 में राज्य में सबसे अधिक सीटें जीतने वाली समाजवादी पार्टी, इस समय मात्र 13 या नीचे10सीटों पर सीमित रह जायेगी। 
पार्टी को गत वर्ष के मुजफ्फरनगर दंगों के प्रभाव का फल भुगतना लगता है और गत माह के सर्वेक्षण निष्कर्ष में भाजपा और उसके सहयोगी दलों को संसद में 230 का तथा कांग्रेस और उसके सहयोगियों के लिए 128 सीटों का आंकड़ा दर्शाया गया था। 
यह नया सर्वेक्षण, पहले सर्वेक्षण से भी एक मामूली उच्च आंकड़ा प्रस्तुत करता है। नए साथी जुड़ना चालू है, तथा स्थिति और बदलेगी। 
एक नए सर्वेक्षण से कहते हैं. कि भाजपा को उत्तर प्रदेश की 2009 चुनाव में मात्र 10 की तुलना में 80 सीटों में से 53 जीत की आशा है।
उत्तेजना व भूलों से बचे रहें, अंतत: लक्ष्य 272+ सफल हो ही जायेगा। 
यह राष्ट्र जो कभी विश्वगुरु था, आज भी इसमें वह गुण,
 योग्यता व क्षमता विद्यमान है | आओ मिलकर इसे बनायें; - तिलक
हम जो भी कार्य करते हैं, परिवार/काम धंधे के लिए करते हैं | देश की बिगडती दशा व दिशा की ओर कोई नहीं देखता | आओ मिलकर इसे बनायें; -तिलक