"कार्य ही पूजा है/कर्मण्येव अधिकारस्य मा फलेषु कदाचना" दृष्टान्त का पालन होता नहीं,या होने नहीं दिया जाता जो करते हैं उन्हें प्रोत्साहन की जगह तिरस्कार का दंड भुगतना पड़ता है आजीविका के लिए कुछ लोग व्यवसाय, उद्योग, कृषि से जुडे, कुछ सेवारत हैंरेल, रक्षा सभी का दर्द उपलब्धि, तथा परिस्थितियों सहित कार्यक्षेत्र का दर्पण तिलक..(निस्संकोच ब्लॉग पर टिप्पणी/अनुसरण/निशुल्क सदस्यता व yugdarpan पर इमेल/चैट करें, संपर्कसूत्र-तिलक संपादक युगदर्पण 09911111611, 09999777358

बिकाऊ मीडिया -व हमारा भविष्य

: : : क्या आप मानते हैं कि अपराध का महिमामंडन करते अश्लील, नकारात्मक 40 पृष्ठ के रद्दी समाचार; जिन्हे शीर्षक देख रद्दी में डाला जाता है। हमारी सोच, पठनीयता, चरित्र, चिंतन सहित भविष्य को नकारात्मकता देते हैं। फिर उसे केवल इसलिए लिया जाये, कि 40 पृष्ठ की रद्दी से क्रय मूल्य निकल आयेगा ? कभी इसका विचार किया है कि यह सब इस देश या हमारा अपना भविष्य रद्दी करता है? इसका एक ही विकल्प -सार्थक, सटीक, सुघड़, सुस्पष्ट व सकारात्मक राष्ट्रवादी मीडिया, YDMS, आइयें, इस के लिये संकल्प लें: शर्मनिरपेक्ष मैकालेवादी बिकाऊ मीडिया द्वारा समाज को भटकने से रोकें; जागते रहो, जगाते रहो।।: : नकारात्मक मीडिया के सकारात्मक विकल्प का सार्थक संकल्प - (विविध विषयों के 28 ब्लाग, 5 चेनल व अन्य सूत्र) की एक वैश्विक पहचान है। आप चाहें तो आप भी बन सकते हैं, इसके समर्थक, योगदानकर्ता, प्रचारक,Be a member -Supporter, contributor, promotional Team, युगदर्पण मीडिया समूह संपादक - तिलक.धन्यवाद YDMS. 9911111611: :
Showing posts with label भारत प्रथम. Show all posts
Showing posts with label भारत प्रथम. Show all posts

Monday, March 11, 2013

नरेंद्र मोदी का धर्मनिरपेक्षता मंत्र:

नरेंद्र मोदी का धर्मनिरपेक्षता मंत्र:
narendramodiनई दिल्ली, 11 मार्च: जब व्हार्टन बिजनेस स्कूल में गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्च बाद में संभावित मुख्य वक्ता के रूप में भाषण के रद्द करने की बात से आनंदित मोदी विरोधियों का मुह बंद हो गया  विडियो संपर्क के माध्यम गांधीनगर से मोदी ने भाषण में सीधा प्रवासी भारतीयों को संबोधित किया है सन्देश स्पष्ट था धर्मनिरपेक्षता का अर्थ भारत विरोध नहीं होता अपने संबोधन में मोदी ने "एक भारत, श्रेष्ठ  भारत" का मंत्र दिया और कहा कि भारतीयों को इस मंत्र के साथ आगे बढ़ना होगा मुख्यमंत्री ने आगे कहा है कि उसके लिए, धर्मनिरपेक्षता- "भारत प्रथम " का अर्थ है, "हम जो भी करते हैं, यह भारत के लिए होना चाहिए।  भारत, उसके सम्मान, लोगों के सपनों को हमें कभी प्रतिकूल रूप से प्रभावित नहीं होने देना चाहिए।  भारत पहले यह होना चाहिए ।  "यदि हम इस दृष्टिकोण का पालन करें, तो धर्मनिरपेक्षता हमारी नसों के माध्यम से स्वचालित रूप से पाठ्यक्रम होगा
गुजरात के मुख्यमंत्री ने हिंदी में दिये लगभग एक घंटे के लंबे भाषण में कहा, "हम भारत के हितों के रूप में उसकी प्रतिष्ठा, सपने या अपने युवाओं के भविष्य की किसी भी मुल्य पर पीड़ित करने की अनुमति नहीं देंगे" ओवरसीज फ्रेंड्स ऑफ बीजेपी के द्वारा आयोजित तथा सीधे प्रसारित किये गये भाषण में न्यू जर्सी और शिकागो, अमेरिकी राज्यों में रहने वाले भारतीय मूल के अमेरिकियों की उपस्थिति महत्वपूर्ण रही गुजरात पर बोलते हुए मोदी ने कहा, "गुजरात ने कभी नहीं कहा है कि वहाँ कोई समस्या या कमियाँ नहीं हैं किन्तु हमें विश्वास है, हम उनका निराकरण कर लेंगे" "जब हमें 5 वर्ष का जनादेश मिलता है, हम उसमें काम करते और लोगों की नि: स्वार्थ सेवा करते हैं तब यदि हम गलतियां करते हैं तो लोग हमारी गलतियों को माफ कर देंते हैं," मोदी ने कहा दिसम्बर 2012 में मोदी के नेतृत्व में, भाजपा निरंतर 3 बार सत्ता में आने में सफल रही
 भाषण यहाँ सुनें:- 
https://www.youtube.com/watch?v=PBWcVuJ3VWU&list=PL9F0886BCCB267DD1&index=52

"अंधेरों के जंगल में, दिया मैंने जलाया है |
इक दिया, तुम भी जलादो; अँधेरे मिट ही जायेंगे ||"- तिलक
http://dharmsanskrutidarpan.blogspot.in/2013/03/blog-post_11.html, http://samaajdarpan.blogspot.in/2013/03/blog-post_11.html, http://raashtradarpan.blogspot.in/2013/03/blog-post_11.html, http://yuvaadarpan.blogspot.in/2013/03/blog-post_11.html
हम जो भी कार्य करते हैं, परिवार/काम धंधे के लिए करते हैं |
 देश की बिगडती दशा व दिशा की ओर कोई नहीं देखता |
 आओ मिलकर इसे बनायें; -तिलक